Ticker

10/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Promotion of Basic Teachers || परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों के 6737 पद चल रहे हैं खाली, प्राथमिक विद्यालयों में पदोन्नति को मिल सकती है हरी झंडी

 परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों के 6737 पद चल रहे हैं खाली 


प्राथमिक विद्यालयों में पदोन्नति को मिल सकती है हरी झंडी


प्राथमिक में 10 साल तथा जूनियर में 2005 से नही मिली पदोन्नति


सिद्धार्थनगर:- परिषदीय जूनियर स्कूलों में प्रधानाध्यापक के पद पर 2005 से व प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पद पर 10 वर्ष से रुकी प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों की पदोन्नति की प्रक्रिया अब शुरू होने की उम्मीद बढ़ गई है। शासन से हरी झंडी मिलने के बाद शिक्षा निदेशक बेसिक शिक्षा ने ब्यौरा मांगा है। बीएसए ने मौजूदा स्थिति की रिपोर्ट भेज दिया है। सबकुछ ठीकठाक रहा तो शासन स्तर से अनुमति मिलने के बाद पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू जाएगी।





मार्च 2023 तक जिले में शिक्षकों के रिक्त होने वाले पदों की संख्या 6731 है। इनमें प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के 1081, सहायक अध्यापकों के 3683, उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के 653 और सहायक अध्यापकों के 1314 पद खाली चल रहे हैं। इस स्थिति से स्कूलों में शिक्षकों की कमी है। सबसे अधिक कमी तो प्राइमरी स्कूलों में प्रधानाध्यापक और जूनियर हाईस्कूलों में सहायक अध्यापकों की है। प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के स्वीकृत 1824 में 894 ही कार्यरत हैं। सहायक अध्यापक के स्वीकृत 7516 में 3675, उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक के स्वीकृत 743 के सापेक्ष 92 और सहायक अध्यापक के 2443 के सपेक्ष 1134 ही कार्यरत है।


प्रधानाध्यापक के पद पर नहीं होगी पदोन्नति


विभाग ने पदोन्नति प्रक्रिया शुरू तो की है, पर जूनियर हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति इस बार भी नहीं होगी। प्राइमरी स्कूलों के प्रधानाध्यापक और जूनियर स्कूलों के सहायक अध्यापकों के पद पर पदोन्नति होनी है। वर्ष 2013 में राज्य सरकार ने पहली बार गणित और विज्ञान के 29334 शिक्षकों की सीधी भर्ती की थी। पदोन्नति होकर आए शिक्षक और सीधी भर्ती के शिक्षक अपनी ज्येष्ठता को लेकर आमने-सामने हैं। यह मामला हाईकोर्ट में है। इसलिए जूनियर हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक के पद पर पदोन्नति नहीं होगी ।


शिक्षा निदेशक (बेसिक) लखनऊ की ओर से जिले में मार्च 2023 रिक्त प्रधानाध्यापक, सहायक अध्यापकों को शामिल करते हुए स्वीकृत, कार्यरत और रिक्त पदों का ब्योरा मांगा है। उपरोक्त सूचनाएं भेज दी गई हैं। शासन का निर्देश मिलने के बाद प्रक्रिया शुरू की जाएगी। - देवेंद्र कुमार पांडेय, बीएसए


जिले के स्कूलों पर एक नजर


परिषदीय स्कूलों की संख्या 2667 -


प्राथमिक विद्यालय 1924


उच्च प्राथमिक विद्यालय 743


कार्यरत शिक्षकों की स्थिति


प्रधानाध्यापक (उच्च प्राथमिक स्कूल ) - 92


प्रधानाध्यापक प्राथमिक स्कूल 849


 सहायक अध्यापक उच्च प्राथमिक स्कूल - 1134 -


सहायक अध्यापक प्राथमिक स्कूल 3675


डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में होगी पदोन्नति


शिक्षकों के पदोन्नति के लिए डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी। इसके लिए रिक्त पदों का ब्यौरा तैयार होने बाद आदेश जारी होंगे। पदोन्नति के लिए अभी मेरिट के मानक नहीं देखे जाएंगे। क्योंकि अभी तक मानव संपदा पोर्टल पर इसके तय मानकों पर शिक्षकों का मूल्यांकन नहीं किया गया है। इस बार पदोन्नति पुराने तरीके से ही होगी। डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में कमेटी बनाई जाएगी। शिक्षकों की गोपनीय आख्या के आधार पर जिला स्तर पर ज्येष्ठता सूची तैयार करके आपत्तियां लीं जाएंगी और ज्येष्ठता सूची के आधार पर पदोन्नति होगी।


आदरणीय शिक्षकगण आप हमारे Whatsapp Group एवं टेलीग्राम से जुड़ सकते है!     https://chat.whatsapp.com/IRUs0CxSY0d7zubM2XU1C9 टेलीग्राम:https://t.me/nipunbharat

Post a Comment

0 Comments