Ticker

10/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Responsive Advertisement

भारत में लांच हुई दुनिया के सबसे एडवांस्ड हाइड्रोजन कार, जिसका "गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड" में दर्ज है नाम, आइये जाने....इस कार के बारे में

 

The world's most advanced hydrogen car launched in India, whose name is recorded in the "Guinness Book of world Records", let's know about this car.
भारत में लांच हुई दुनिया के सबसे एडवांस्ड हाइड्रोजन कार, जिसका "गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड" में दर्ज है नाम, आइये जाने....इस कार के बारे में




India's Union Minister of Road Transport and Highways Mr. Nitin Gadkari on Wednesday inaugurated a pilot project on Hydrogen-based advanced Fuel Cell Electric Vehicle (FCEV). Union Minister Mr. Pardeep Puri and Raj K. Singh were also present at the inauguration ceremony.
          The project is aimed at spreading awareness about Hydrogen, FCEV technology and disseminating it's benefits to support hydrogen-based society for India.



भारत में फॉर्च्यूनर (Fortuner) बेचने वाली कंपनी टोयोटा किर्लोस्कर ने बुधवार को भारत की पहली ऑल हाइड्रोजन इलेक्ट्रिक कार मिराई को लॉन्च कर दिया है। टोयोटा मिराई एफसीईवी (Toyota Mirai FCEV) दुनिया की पहली हाइड्रोजन कार फ्यूल सेल इलेक्ट्रिक कार में से एक है। और यह शुद्ध हाइड्रोजन से बनने वाली बिजली पर चलती है।


Toyota Mirai को एक जीरो एमिशन (Zero Emmision) यानी जीरो प्रदूषण वाला वाहन भी माना जाता है, क्योंकि कार टेलपाइप से केवल पानी का उत्सर्जन करती है। टोयोटा ने इसे इंटरनेशनल सेंटर फॉर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी (ICAT) के साथ भारत मे पायलट प्रोजेक्ट के हिस्से के रूप में उतारा है।


देश मे ही बनेगी कार-


टोयोटा न कहा है कि टोयोटा मिराई एफसीईवी को कर्नाटक में टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स के प्लांट में बनाया जाएगा। इसे दिसम्बर 2020 में पहली बार दुनिया के सामने पेश किया गया था। कार के 5 मिनट के ईंधन भरने के समय के साथ आने का दावा किया था। यह एक फुल टैंक पर 646 किलोमीटर तक चल सकती है।


टेस्टिंग से गुजरेगी कार-


भारत सरकार की ओर से देश मे पेट्रोल-डीजल की मांग को कम करने के लिए और प्रदूषण को रोकने के लिए इस पायलट प्रोजेक्ट की शुरूआत की है। सरकार इसके लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric Vehicle) के अलावा पेट्रोल और डीजल के समाधान के रूप में हाइड्रोजन सेल को भी आगे बढ़ा रही है। इस पायलट प्रोजेक्ट में मिराई (Mirai) को भारतीय सड़कों और जलवायु परिस्थितियों में चलाकर टेस्टिंग की जाएगी।


टोयोटा फ्यूल सेल सिस्टम ऐसे काम करता है-


मिराई में प्रयुक्त टोयोटा फ्यूल सेल सिस्टम हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के बीच प्रतिक्रिया (Reaction) से बिजली पैदा करता है। मिराई कस्टमर इसे उसी तरह हाइड्रोजन ईंधन से भरते है, जैसे पेट्रोल/डीजल/सीएनजी ख़रीदते है।
ईंधन (Hydogen) उच्च दाब वाले टैंको में समाहित होता है। और एक ईंधन सेल स्टैक में डाला जाता है। जहाँ हवा में स्वाभाविक रूप से पाए जाने वाले हाइड्रोजन और ऑक्सीजन एक दूसरे के साथ प्रतिक्रिया (Reaction) करते है और बिजली उत्पन्न करते हैं।



According to the Ministry of Road and Transport and Highways, Transportation powered by Green Hydrogen is going to be a key technology option of the future with significant application, especially across bigger cars, buses, trucks, ships and trains and best suited for medium of long distance.


सड़क और परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार, ग्रीन हाइड्रोजन द्वारा संचालित परिवहन महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों के साथ भविष्य का एक प्रमुख प्रौद्योगिकी विकल्प होने जा रहा है, विशेष रूप से बड़ी कारों, बसों, ट्रकों, जहाजों और ट्रेनों में और लंबी दूरी के लिए सबसे उपयुक्त है।


Green Hydrogen offers huge opportunities to decarbonize a range of sectors including road transportation and is gaining unprecedented momentum globally.


ग्रीन हाइड्रोजन सड़क परिवहन सहित कई क्षेत्रों को डाइकार्बोनाइज करने के बड़े अवसर प्रदान करता है और विश्व स्तर पर अभूतपूर्व गति प्राप्त कर रहा है।


क्या होगा फायदा??


हाइड्रोजन फ्यूल की सेल कारों से पारंपरिक ईंधन वाली कारों की तुलना में उत्सर्जन भी काफी कम और स्वच्छ स्तर का होता है, क्योंकि वे पारंपरिक दहन इंजनों से जुड़ी ग्रीन हाउस गैसों की अधिकता के बजाय सिर्फ पानी और कुछ ताप का उत्सर्जन करते हैं।
          कुछ देशों में हाइड्रोजन फ्यूल वाले वाहनों पर कम टैक्स लगता है। एक बार इसका टैंक भरवाने पर 482 किलोमीटर से लेकर 1000 किलोमीटर तक की दूरी तय की जा सकती है। इसके अलावा यह पेट्रोल की तुलना में काफी सस्ता भी होता है।


विदेशों में Toyota Mirai लांच DATES


USA -October 2015
Europe- September 2015
Japan- December 2014


गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है टोयोटा मिराई (TOYOTA MIRAI)


टोयोटा मिराई के नाम एक ही टैंक पर 1359 किलोमीटर चलने का गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है जिससे यह दुनिया की सबसे ग्रीन कार बन गई है।
      टोयोटा मिराई के पास एक टैंक पर 650 किलोमीटर का हाइड्रोजन को फिर से भरने में कम समय लगता है और इलेक्ट्रिक वाहनों की तरह जीरो टेल पाइप उत्सर्जन होता है।



Post a Comment

0 Comments