Ticker

10/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Responsive Advertisement

दुनिया का सबसे खुशहाल देश फिनलैंड, लगातार पांचवें साल अव्वल, भारत का 136वां स्थान, जानिए भारत के पड़ोसी देशों समेत अन्य देशों की स्थिति, देखें शीर्ष 20 ख़ुशहाल देश


Finland is the happiest country, India ranks 136th in the world happiest list.

दुनिया का सबसे खुशहाल देश फिनलैंड, लगातार पांचवें साल अव्वल, भारत का 136वां स्थान, जानिए भारत के पड़ोसी देशों समेत अन्य देशों की स्थिति, देखें शीर्ष 20 ख़ुशहाल देश


दुनिया का सबसे खुशहाल देश इंडेक्स:-


दुनिया का सबसे खुशहाल देश कौन सा है? इस सवाल का जवाब है फिनलैंड। जी हां सबसे खुशहाल देश की रैंकिंग में फिनलैड लगातार पांचवें साल अव्वल रहा। इसके साथ ही शीर्ष 5 देशों में डेनमार्क, आइसलैंड, स्विट्जरलैंड और नीदरलैंड शामिल हैं। अमेरिका 16वें और ब्रिटेन 17वे स्थान पर काबिज है। 



अब बात करें भारत की तो हमारा देश भारत इस रैंकिंग में 3 स्थान की छलांग लगाकर 136वें स्थान पर है। सबसे खास और चौंकाने वाली बात यह है कि भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान 121वें स्थान पर है। भारत के अन्य पड़ोसी देशों में नेपाल 84वें, बांग्लादेश 94वें और श्रीलंका 127वें स्थान पर है।


 शुक्रवार को जारी इस सूची मे सर्बिया, बुल्गारिया और रोमानिया कुछ ऐसे मुल्क है जहां बेहतर जीवन जीने की परिस्थितियां सुधरी हैं। वहीं लेबनान वेनेजुएला और अफगानिस्तान ऐसे देश है जो कि इस सूची में अंतिम पायदानों पर हैं।

लेबनान जैसे देश सबसे नाखुश क्यों??


 लेबनान इन दिनों आर्थिक मंदी का सामना कर रहा है। यह देश सूची में 144वें इस स्थान पर है जबकि जिंबाब्वे 143 में स्थान पर है। बीते वर्ष अगस्त में अफगानिस्तान पर तालिबान के फिर से सत्ता में आने के बाद से युद्ध से पीड़ित अफगानिस्तान पहले से ही इस सूची में सबसे नीचे है। यूनिसेफ की ओर से अनुमान जताया गया है कि यदि मदद ना दी गई तो वहां 5 साल से कम उम्र के 10 लाख बच्चे इस सर्दी में भुखमरी का शिकार हो सकते हैं।


यूक्रेन संकट से पहले बन गई थी रिपोर्ट


 दुनिया के सबसे खुशहाल देशों की सूची बीते 10 सालों से तैयार की जा रही है इसे तैयार करने के लिए लोगों की खुशी के आकलन के साथ-साथ आर्थिक और सामाजिक आंकड़ों को भी देखा जाता है। इसकी गणना के लिए 3 साल के आंकड़ों को लिया जाता है। इसके साथ ही खुशहाली को जीरो से 10 अंक तक के पैमाने पर आंका जाता है। हालांकि संयुक्त राष्ट्र की यह रिपोर्ट रूस के यूक्रेन पर आक्रमण करने से पहले ही बनकर तैयार हो गई थी। इस वजह से सूची में रूस 80वें और यूक्रेन 98वें स्थान पर है।


इन आधारों पर तैयार की जाती है सूची


 सालों से वर्ल्ड हैप्पीनेस रिपोर्ट में सामाजिक सद्भाव, उदारता, सरकार की ईमानदारी खुशहाली के लिए बेहद जरूरी है। विश्व के नेताओं को यह ध्यान रखना चाहिए रिपोर्ट बनाने वालों ने महामारी संक्रमण के पहले और बाद के समय का इस्तेमाल किया। वही लोगों की भावनाओं का तुलनात्मक अध्ययन करने के लिए सोशल मीडिया से भी आंकड़े जुटाए गए। सूची में शामिल 18 देशों में चिंता और उदासी में वृद्धि देखी गई लेकिन क्रोध की भावनाओं में गिरावट देखी गई।


यहां सिर्फ शीर्ष 20 देशों की सूची (कोष्ठक में बीते वर्ष की तुलना में हुआ स्थान परिवर्तन)


01-फ़िनलैंड (=)
02- डेनमार्क (=)
03- आइसलैंड (+1)
04- स्विट्जरलैंड (-1)
05- द नीदरलैंड (=)
06- लक्जमबर्ग (+2)
07- स्वीडन (=)
08- नार्वे (-2)
09- इसराइल (+3)
10- न्यूजीलैंड (-1)
 11-ऑस्ट्रिया (-1)
12- ऑस्ट्रेलिया (-1)
13- आयरलैंड (+2)
14- जर्मनी (-1)
15 कनाडा (-1)
16- यूनाइटेड स्टेट्स (+3)
17- यूनाइटेड किंग्डम (=)
18- चेक रिपब्लिक (=)
19 बेल्जियम (+1) 
20-फ़्रांस (नया प्रवेशकर्ता)



Post a Comment

0 Comments